एक ऐसा मंदिर जंहा रात को रुकने की गलती कभी मत करना|

 

भारत को चमत्कारी या रहस्यमय देश कहना गलत नहीं होगा क्योंकि भारत में धर्म, भक्ति के अलावा कई ऐसे रहस्य भी देखे गये हैं जिन्होंने अच्छे-अच्छों वैज्ञानिको के दिमाग घुमकर रख दिये। हमने भी आपको कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताया है  जो अपने आप में रहस्य से भरी है| भारत में आपने बहुत से चमत्कारी मंदिर देखे होंगे या सुना होगा तो चलिए आज आपको फिर से एक ऐसे ही रहस्यमय मंदिर में ले चलते है|

temple


ये रहस्यमय मंदिर राजस्थान के बाड़मेर में किराडू इस मंदिर के नाम से काफी प्रसिद्ध है। इस मंदिर की मान्यता है कि ये मंदिर करीब 900 सालों से खंडहर और सुनसान पड़ा है दिन में यहां लोगों की चहल-पहल रहती है लेकिन जैसे ही दिन ढलता है वैसे ही यहां ये जगह खाली होने लगती है क्योंकि अगर रात में कोई गलती से रुक भी जाता है तो दूसरे दिन पत्थर बना हुआ मिलता है।

 

ये भी पढ़े-हमारी सोच है बुरी बियर नही|

 

make stone



इस रहस्य के पीछे एक साधु का श्राप माना जाता है बताया जाता है कि 900 साल पहले इस शहर में एक ज्ञानी साधु अपने कई शिष्यों के साथ रहा करता था एक दिन साधु बाहर घूमने निकल गये और अपने शिष्यों की देखभाल के लिए वहां रहने वाले लोगों को बोल आये थे। उनके जाने के बाद एक दिन सारे शिष्य बीमार पड़ गये जिनकी एक महिला को छोड़कर किसी ने देखभाल नहीं की। जब साधु घूमकर वापस आश्रम आये तो उन्हें शिष्यों की ऐसी हालत देखकर बहुत गुस्सा आया।

 

ये भी पढ़े-दुनिया के ऐसे देश जहाँ नहीं होती रात

 

make stone



ये भी पढ़े-इन देशो में है कपड़ो का खर्चा बहुत कम घूम सकते है बिना कपड़ो के |

 

उन्होंने उस महिला को नगर से जाने को कह दिया और साथ ही ये भी कह दिया कि पीछे मुड़कर न देखे उसके बाद उस साधु ने पूरे नगर को पत्थर बनने का श्राप दे दिया। उन्होंने कहा जब यहां के लोगों में इंसानियत ही नहीं है तो इंसान बने रहने का भी कोई फायदा नहीं, तुम सभी को पत्थर ही बन जाना चाहिए। साधु के उस दिन से मुंह से निकला ये श्राप आज तक लोगों में दहशत बनाया हुआ है इसलिए रात होने के बाद यहां कोई नहीं रुकता है।

 

तो ये था आज का पोस्ट आपके लिए उम्मीद करते है आपको पसंद आएगा|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!