Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!

जिस शब्द को पूरी दुनिया करती है फॉलो| फ़ोन करते ही सभी लोग आखिर क्यूँ बोलते है हेल्लो|

 
Reading Time: 2 minutes

फ़ोन एक ऐसी छोटी और सबसे जरूरतमंद चीज है| जिसके बिना लगभग सभी उम्र के लोग परेशान है|बच्चो को गेम के लिए बड़ो को वाटस अप्प और बुजुर्गो को अपने बच्चो के साथ बाते करने के लिए चाहिए ही चाहिए| फ़ोन हमारी सबकी जिन्दगी का एक ऐसा हिस्सा बनता जा रहा है| जिसके बिना रहना नामुमकिन सा लगता है| घंटो दोस्तों के साथ बात करना| अपने पल सबके साथ शेयर करना आदत सा बन गया है|पर अपने कभी सोचा है की जब हम किसी को फ़ोन करते या सुनते है तो हम हेल्लो ही क्यूँ बोलते है कुछ और क्यूँ नही| तो चलिए आज इस राज़ से भी पर्दा हटाते है|

Hello का अविष्कार लोगो के बीच आपसी बातचीत बढ़ाने के लिए हुआ था| 21 नवम्बर 1973 से पूरी दुनिया में वर्ल्ड हेल्लो डे मनाया जाने लगा| लेकिन आज वक्त के साथ हेल्लो का इस्तेमाल अलग-अलग तरीको से होता है| हेल्लो शब्द इतना कॉमन है की आज दुनिया के सभी मोबाइल इस्तेमाल करने वाले सबसे पहले हेल्लो ही बोलते है|

 

ये भी पढ़े-छोटे से कैलकुलेटर ने बनाया, तकनीक का बादशाह

 

फ़ोन पर हेल्लो बोलने की कहानी फ़ोन के अविष्कार करने वाले ग्राहम बेल से जुडी बताई जाती  है| इन्होने सिर्फ फ़ोन का ही अविष्कार नहीं किया बल्कि फ़ोन पर बात करने वाली भाषा को भी सरल बनाने की पूरी कोशिश की|ऐसे में हेल्लो शब्द की खोज भी इन्होने ही की थी| कहते है की ग्राहम बेल अपनी गर्लफ्रेंड ‘मार्गरेट हेल्लो’ को बहुत प्यार करते थे| वस उसे प्यार से सिर्फ हेल्लो ही कहते थे| ऐसे में जब उन्होंने फ़ोन का अविष्कार किया तो सबसे पहले अपनी गर्लफ्रेंड का नाम लिया| जिस कारण आज भी सभी लोग हेल्लो पर सबसे पहले हेल्लो बोलते है|

 

ये भी पढ़े-अब आप भी बन सकते है डॉक्टर ये घरेलू नुस्खे अपनाकर|

 

लेकिन कुछ लोग इस बात को सच नहीं मानते है| वो मानते है की हेल्लो शब्द फ्रेंच के होला शब्द जिसका अर्थ होता है, रुको और ध्यान दो से लिया गया है| इस लिए हम हेल्लो शब्द फ़ोन पर सबसे पहले बोलते है|

 

तो ये थी जानकारी आपके लिए हमारी ओर से उम्मीद करते है आपको पसंद आएगी|

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!