आओ जाने गुजरात के International kite festival (Uttarayan) के बारे में

International Kite Festival Gujarat
 
Reading Time: 3 minutes

जैसा की सब जानते है की बसंत पंचमी आने वाली है| और इस दिन लगभग हर शहर के आंसम में सिर्फ पतंग की दिखाई देती है| आज भी जब असमान में इन उड़ती हुई पतंगो को देखकर अपना बचपन याद आ जाता है|पर इस त्यौहार को देखने  का असली मजा आता है Gujrat में साबरमती नदी के  किनारे| जन्हा इस त्यौहार जिसका नाम अंतर्राष्ट्रीय पतंग मोहत्सव (International kite festival (Uttarayan)है  को बहुत बड़े पैमाने में मनाया  जाता है|

India International Kite Festival

कब मनाया जाता है ये मोहत्सव?

Kite festival

यह मोहत्सव हिन्दू कैलेंडर के अनुसार जब सर्दियों की शुरुवात होती है जिसे मकर संक्रांति या उत्तरायण के रूप में जाना जाता है|इस महोत्सव में बड़ी मात्रा में लोग हिस्सा लेने आते है| यह मोहत्सव पुरे 5 दिनों तक चलता है| पिछले साल इस मोहत्सव  में भारत देश के 8 राज्यों से आये कमसेकम 100 पतंगबाजो ने हिस्सा लिया था|और इतना ही नही इस मोहत्सव में विदेश से भी लोग आये थे| पिछले साल Singapore, Austria, Australia and Switzerland  पुरे  23 देशों से आए 74 विदेशी पतंगबाज इस मोहत्सव में हिस्सा लेने आये थे|

कैसे करे PF balance check on mobile | 3 तरीके

कंहा मनाया जाता है ये मोहत्सव?

India International Kite Festival

international kite festival पुरे गुजरात में मनाया जाता है| इस  मोहत्सव के जो प्रमुख केंद्र है वो है Ahmedabad, Surat, Vadodara, Rajkot, Nadiad.International kite festival Ahmedabad में आयोजित किया जाता है|

क्यों मनाया जाता है ये मोहत्सव?

India International Kite Festival

कहा जाता है की इंडिया में यह चीज या तो फारस से आये मुस्लिम व्यापारि या चीन से बौद्ध तीर्थयात्रियों  जो पवित्र ग्रंथो की तलाश में आये थे  वो लेके आये थे|लगभग 1000 साल पहले पतंगो का उल्लेख संगीतकार Santnambe ने अपने एक गीत में किया था| कई क्लासिक  लघु चित्रों में पतंग उड़ाने वाले लोगों को दर्शाया गया है। जैसा की आप सब जानते है की गुजरात भारत के पश्चमी छोर पर है| यह उन क्षेत्रों में से एक है जहां कई पहलुओं में मुस्लिम और हिंदू संस्कृतियों का मिश्रण हुआ है। ऐसा सिर्फ मान्यता है असल में कोई भी नही जनता की ये  परम्परा कब शुरू हुई|

गाडी के नंबर से पता करे गाड़ी के मालिक का नाम और डिटेल्स 1 मिनट में

Uttarayan मूल रूप से Hindu calender का एक खास  दिन है, ऐसा मन जाता है कि इस दिन पतंग उड़ाने का विचार एक अवधारणा थी जो फारस से आये मुस्लिम व्यापारि के साथ आई थी, और अब इसने सभी धर्म के ठेकेदारों का मुह बंद कर दिया है| कोई आपसे नही पूछेगा की आपकी जाति क्या है या आप किस सम्प्रद्य से है ,बस इतना जान लीजिये  अगर आप इस महीने  में गुजरात में हैं, तो आपको कुढ़ पता ही नही चलेगा की आप किसी के साथ पतंग उड़ा रहे हैं और किसके साथ नहीं । Uttarayan में पुरे भारत से लोग आते हैं, और सिर्फ भारत ही नही वेदेशो से भी कई लोग यंहा international kite festival आते है , जिनमें Italy,Australia,Canada,Indonesia,China,TheUK,TheUSA,Malaysia,France,Brazil,Japan,Singapore  शामिल हैं।

तो लोग गुजरात नही जा सकते वो लोग हमारी तरह इस दिन का मजा अपनी छत्तों पर ले सकते है| लेकिन ध्यान से दोस्तों पतंग उड़ाते समय बहुत सावधानी बरते और अपने से छोटो का ख्याल रखे|

तो ये था आज का पोस्ट आपके लिए उम्मीद करते है आपको पसंद आएगा|

Happy Vasnt Panchami to all of you.

SUDHIR KUMAR
नमस्कार पाठको|
I am Sudhir Kumar from haridwar. I am working with a company as a quality Engineer. i like to singing,listening music,watching movies and wandering new places with my friends. And now you can call me a blogger.
If you have any suggestion or complain you direct mail me on [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!