क्या आप फूटबाल के सभी नियमो के बारे में जानते है?

Football rules
 

फुटबॉल एक ऐसा खेल जिसे क्रिकेट से जाएदा पसंद किया जाता है|और आज कल आप जानते ही है फीफा वर्ल्ड कप  चल रहा है|और इसके पीछे  पूरी दुनिया पागल हो रखी है|पर कितना जानते है इस गेम के बारे में इसके निमयो के बारे में|चलिए जानते है आज फूटबाल को कुछ नए तरीके से|



फुटबॉल की टीम में भी क्रिकेट की तरह से 11 खिलाडी होते है|

Team Striker:-इसका मुख्य काम गोल मारना होता है|

 

ये भी पढ़े-एक बर्गर जिसे पचाने में लगते है पुरे तीन दिन| इससे जितना हो सके दूर रहे|

 

Defenders:-इसका काम खासतोर पर विरोधियो को गोल करने से रोकना होता है|

Midfielder:- इसका काम विपक्षियों से बॉल छीन कर अपने आगे खेलने वाले प्लेयर्स को बॉल देने का काम करना होता है|

Manager:-यह मैच की रणनीति बनाने में अहम रोल निभाता है। 

Goalkeeper:- इसे तो सब जानते ही है|फिर भी आपको बता देते है की गोल कीपर इकलौता ऐसा खिलाड़ी होता है, जिये अपने हाथ या बांह में बॉल पकड़ कर खेलने की इजाजत होती है, लेकिन वह अपने गोल के सामने पेनल्टी एरिया तक ही ऐसा कर सकता है। 

Pitch Length: 100-110 मीटर तक की होती है|

 

ये भी पढ़े-13.75 Rs. में पाए गर्लफ्रेंड वो भी पुरे 20 मिनट के लिए| सिंगल लडको के लिए सुनहरा अवसर|

 

Pitch Width: 64-75 मीटर तक की होती है|

Penalty Area: हर गोल के सामने का एरिया पेनल्टी एरिया के रूप में जाना जाता है। यह एरिया सर्किल लाइन से पहचाना जा सकता है। यह गोल पोस्ट से 16.5 मीटर की दूरी तक होता है।

Penalty Kick: गोलकीपर की पॉजिशन या डिफेंस करने वाली टीम अगर फॉउल करती है तो सजा के तौर पर पेनल्टी दी जाती है।

Time: फुटबॉल मैच 90 मिनट का होता है, जिसमें 45-45 मिनट के दो हिस्से होते हैं।

Kick-off: गेम टाइम की शुरुआत किक मारने (kick-off) के साथ होती है।

 




 

Penalty Shootouts: लीग गेम्स में खेल ड्रॉ के साथ खत्म हो सकता है, लेकिन कुछ नॉक आउट गेम्स में अगर खेल तय समय तक टाई रहा तो वह मैच एक्स्ट्रा टाइम तक चल सकता है। अगर एक्स्ट्रा टाइम के बाद भी टाई रहता है तो पेनल्टी शूटआउट (नियम के मुताबिक पेनल्टी पॉइंट से किक मारना कहा जाता है) का प्रयोग किया जाता है।

Throw-in: जब बॉल पूरी तरह से रेखा पार कर जाती है, तब उस विरोधी टीम को इनाम मिलता है, जो बॉल आखिरी बार छूता है।

Goal kick: जब बॉल पूरी तरह गोल रेखा को पार कर जाती है तो गोल के बिना ही स्कोर होता है और अटैकर द्वारा बॉल को आखिरी बार छूने के कारण डिफेंस करने वाली टीम को इनाम मिलता है।

 

ये भी पढ़े-एक लड़की ने बेचा अपना यूरिन 2 बूंद की कीमत थी 25 डॉलर | जानिए पूरा मामला|

 

Corner kick: जब बॉल बिना गोल के ही गोल रेखा को पार कर जाती है और डिफेंस करने वाली टीम द्वारा बॉल को आखिरी बार छूने के कारण हमलावर टीम को इनाम में मिलता है।

Indirect free kick: यह विरोधी टीम को इनाम में मिलती है, जब बिना किसी विशेष फाउल के बॉल को बाहर भेज दिया जाए और खेल रुक जाए।

Dropped-‌Ball: जब रेफरी किसी दूसरी वजह से गेम को रोक दे, जैसे प्लेयर को गंभीर चोट लगना या बॉल का खराब हो जाना।

 




 

Yellow Card: रेफरी प्लेयर को पनिशमेंट के रूप में उसके गलत बर्ताव के लिए Yellow Card दिखाकर मैदान के बाहर भेज सकता है।

Red Card: एक ही खेल में दूसरी बार पीला कार्ड मिलने का मतलब है रेड कार्ड का मिलना और उसके बाद मैदान से बाहर। अगर एक प्लेयर को बाहर निकाल दिया जाता है तो उसकी जगह कोई दूसरा प्लेयर नहीं आ सकता।

Offside: ऑफ साइड नियम में आगे के प्लेयर बॉल के बिना बचाव करते दूसरे प्लेयर के आगे नहीं जा सकते, खासकर विरोधी टीम की गोल रेखा के एकदम पास।

तो ये थी जानकारी फूटबाल के बारे में उम्मीद करते आपको ये जानकारी पसंद आएगी |और आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करेंगे|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!