हार्ट अटैक का खतरा होगा अब आधा|

 

कैंसर और हार्ट अटैक दोनों ही बीमारी ऐसी है जिनका नाम सुनने से ही डर लगता है | हम यही सोचते है कि ये बीमारी भगवान हमारे दुश्मनो को भी न दे | वैसे आजकल ये बीमारी एक आम समस्या बन गई है जिसे देखो वो या हार्ट की प्रॉब्लम से पीड़ित है या किसी के रिश्तेदार को कैंसर हो गया है |और इनकी वजह से हर साल इंडिया में नही बल्कि विदेश में भी कई जाने चली जाती है | वैसे हार्ट अटैक विदेशो में बहुत ही आम बात है कारण उनका खानपान| उन लोगो का खानापीना कोलस्ट्रोल से भरा होता होता है जो हमारी बॉडी में लिए बहुत ही नुकसानदायक होता है |और ये दोनों बीमारी ऐसी है जिसकी वजह से आपको उम्र भर दवाइयों के भरोसे रहना पड़ेगा और ये जरुरी नही है के आप इनसे ठीक हो जायेंगे|

तो चलिए आपको बताते है कैसे इन बीमारियों के खतरे को कम कर सकते है |

अमेरिका में हुवे एक अधययन के अनुसार डॉक्टरो ने एक ऐसी दवा बनाई है जो कैंसर और हार्ट अटैक खतरे को कम कर सकती है|

उनका कहना है की यह दवा इन बीमारियों की वजह से होने वाली  लोगो की मृतु की संभावना कम कर देगी| हारवर्ड यूनिवर्सिटी के लीड रिसर्चर डॉ पॉल रिडकर ने कहा है कि इस दवा के बाद से अब इलाज़ के जगत में नए युग का आगाज़ होने जा रहा है |

ये भी पढ़े-जल्दी ही आप वाशिंग मशीन को कहेंगे बाय बाय |

विशेषज्ञो के मुताबिक कैनकइनुमेब नाम की यह दवा गठिया और वात रोग(Arthritis) के लिए भी कारगर होगी|

शोधकर्ताओ ने यह दावा किया है कि किसी संक्रमण से होने वाली सूजन का हार्ट अटैक के पीछे जाएदा हाथ होता है | और ऐसे मामलो में हमारे शरीर में कोलस्ट्रोल बहुत कम होना चाहिए |

नोट-दवाइया सिर्फ डॉक्टर के परामर्श अनुसार ले|

ये भी पढ़े –जल्द ही आप मिलेंगे अपने 1000 रूपए के नोट से वो भी नए रूप में|

शोधकर्ताओ ने ये भी पाया कि इस दवा के सेवन से हार्ट अटैक को रिपीट होने की सम्भावना सिर्फ 24 % ही जाती है| डॉ पॉल रिडकर ने बार्सिलोना में हुई यूरोपियन सोसाइटी ऑफ़ कार्डीयोलोजी कांफ्रेंस में इस खोज के बारे में बताया | उन्होंने कहा कि पहली बार है जब उन्होंने किसी हार्ट डिसीज़ को कम करने वाली दवा का प्रदर्शन किया है |

तो ये थी कुछ जानकारी आपकी सेहत से जुडी उमीद करता हूँ| आपको हमारी ये जानकारिया पसंद आती होंगी|तो अपने फ्रेंड और रिश्तेदारों से शेयर करना ना भूलियेगा|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!